Name of Planets in Hindi : 8 ग्रहों के नाम हिंदी में

इस आर्टिकल के‌ माध्यम से आज हम जानेंगे की प्लानेट क्या है? (What is The Planet) और 8 ग्रहों के नाम हिंदी में (Name of Planets in Hindi | Planets name in Hindi) बताने जा रहे हैं। वैसे तो हम में से अधिकांश को सभी ग्रहों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में पता है। इस आर्टिकल के‌ माध्यम से Name of Planets in Hindi बताने वाले हैं। कई बार आपने देखा होगा की बच्चों को स्कूल में What is The Planet या 8 ग्रहों के नाम हिंदी में (Name of Planets in Hindi) में पूछा जाता है पर इसकी जानकारी ना होने की वजह से वो इसका सही उत्तर नही दे पाते। निचे हमने सभी ग्रहों (Hindi planets name) के बारे में विस्तार से बताया है जिससे आप बहुत ही कम समय में 8 ग्रहो के नाम (Planets name in Hindi) हिन्दी में व अग्रेजी में याद कर सकते हैं।

आप सभी जानते ही हैं की हमारे विश्व में कुल 8 ग्रह हैं जिसमे से कुछ छोटे व कुछ बडे ग्रंह हैं और पृथ्वी भी एक ग्रह ही है जिस पर हम सभी रहते हैं। हमने देखा है की कुछ लोगों का मानना है की सौरमंडल में कुल 9 ग्रह है। याद रखे प्लूटो को मिलाकर कुल 9 ग्रह थे, लेकिन प्लूटो को सन 2006 में ग्रहों के समूह से निकाल दिया था जिसके बाद अब सौरमंडल में कुल 8 ही ग्रह है।

Name of Planets in Hindi – 8 ग्रहों के नाम

सूर्य या अन्य तारे के चारों तरफ घुमने वाले खगोल पिण्डों को ग्रह कहते हैं। अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ के अनुसार हमारे सौरमंडल में कुल आठ ग्रह हैं और इन 8 ग्रहों के नाम हैं (Name of Planets in Hindi or Hindi Planets Name): मंगल, बुध, शुक्र, शनि, पृथ्‍वी, बृहस्‍पति, अरूण और वरूण। इनके अतिरिक्त तीन छोटे ग्रह भी हैं: प्लूटो, सीरीस और एरीस।

प्राचीन काल के खगोलशास्त्रियों ने तारों और ग्रहों के बीच में अन्तर इस तरह बताया है:

  • तारा या पिंड – रात में आकाश में चमकने वाले अधिकांश पिण्ड हमेशा पूर्व दिशा से निकलते हैं। एक निश्चित गति प्राप्त करते हैं और पश्चिम की दिशा में अस्त होते हैं। इन पिण्डों का आपस में एक-दूसरे के सापेक्ष भी कोई परिवर्तन नहीं होता है। इन्ही पिण्डों को तारा कहा गया है।
  • ग्रह – कुछ ऐसे भी पिंड हैं जो बाकी पिंडो के सापेक्ष में कभी आगे जाते थे और कभी पीछे आते हैं। या घुमक्कड़ जैसे घूमते रहते हैं। अंग्रेजी का Planet एक लैटिन भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ होता है इधर-उधर घूमने वाला। इसलिए इन पिंडों का नाम प्लेनेट (Planet) और हिन्दी में ग्रह रखा गया।

इसे भी पढ़ेpH मान क्या होता है? विभिन्न पदार्थो के pH मान

Planets name in Hindi and English | Hindi Planets Name

हममे से सभी को सभी ग्रहों के नाम अंग्रेजी में तो पता है लेकिन अगर कोई हिंदी में नाम (Planets name in Hindi) पूछता है तो हम सोच में पड़ जाते हैं। चलिए जानते हैं सभी ग्रहों के हिंदी (Hindi Planets Name) और अंग्रेजी नाम।

क्रअंग्रेजी नामहिंदी नाम
1.Marsमंगल
2.Mercuryबुध
3.Neptuneवरूण
4.Saturnशनि
5.Earthपृथ्‍वी
6.Jupiterबृहस्‍पति
7.Uranusअरूण
8.Venusशुक्र

सूर्य से बढ़ते क्रम में ग्रहों की दूरी

सूर्य से बढ़ते हुए दूरी के क्रम में ग्रहों के नाम (Hindi planets name) निम्न हैं: बुध > शुक्र > पृथ्वी > मंगल > बृहस्पति > शनि > अरूण > वरूण। हमने इसे सूर्य से बढ़ते हुए दूरी (मिलियन) के अनुसार निचे ग्राफ के द्वारा समझाया है।

What is Solar System in Hindi | सौरमंडल क्या है?

सौरमंडल सूर्य और खगोलीय पिंडों से मिलकर बना हुआ है। यह सभी पिंड एक दूसरे से गुरुत्वाकर्षण बल द्वारा जुड़े हुए है। ब्रह्माण्ड में किसी तारे के आसपास परिक्रमा करते हुए खगोलीय वस्तुओं को ग्रह मंडल कहते है, लेकिन वह दूसरे तारे ना हो जैसे की, प्राकृतिक उपग्रह, खगोलीय धूल, धूमकेतु और बौना ग्रह। सूर्य हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा तारा है, इसके आस पास सबसे ज्यादा पिंड, ग्रह चक्कर लगाते हैं। सूर्य और ग्रहो को मिलकार ही सौरमंडल बनता है।

शायद आप सोच रहे होंगे की खगोलीय पिंड या खगोलीय वस्तु क्या होती है? खगोलीय पिंड को ही खगोलीय वस्तु कहते है। यह वस्तुए सौरमंडल में प्राकृतिक रूप से पायी जाती है इनका निर्माण किसी मशीन या मनुष्य के द्वारा नहीं किया गया है। यह ब्रह्माण्ड में प्राकृतिक रूप से पहले से ही मौजूद है। जैसे: ब्लैक होल, आकाश गंगा, उपग्रह तारे, उल्का पिंड और बौना ग्रह इत्यादि।

Mercury (बुध)

यह ग्रह सुर्य का सबसे नजदीकी ग्रह है। यह ग्रह सुर्य के निकलने से दो घंटे पूर्व तक ही दिखाई देता हैं। बुध ग्रह सबसे छोटा ग्रह है और इसके पास कोई उपग्रह भी नहीं हैं। यहाँ पर दिन अत्याधिक गर्म व रात बर्फीली होती है।

  • बुध ग्रह (Mercury Planet) सूर्य के सबसे निकट रहने वाला और आकर में सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है।
  • इस ग्रह पर वायु का आभाव होने के कारन जीवन असंभव है।
  • पृथ्वी से यह ग्रह सुबह और शाम को दिखाई पड़ता है (दूरबीन से), क्योंकि दिन के समय सूर्य के तेज़ प्रकाश के वजह से इस ग्रह को देख पाना संभव नहीं है।
  • इस ग्रह पर दिन में अत्यधिक गर्मी (तापमान 427 °C) तथा रात्रि के समय में अत्यधिक ठण्ड (तापमान -173 °C) होती है।
  • आकर में यह पृथ्वी के 18 वें भाग के बराबर है। इस ग्रह का कोई उपग्रह नहीं है।
  • सूर्य से बुध ग्रह की दुरी 57.91 मिलियन कि. मी. है। जिस कारण इस ग्रह को सूर्य की एक परिक्रमा को पूर्ण करने के लिए करीब 88 दिन लगता है।
  • पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के मुकाबले इस ग्रह का बल 3/8 भाग का है और इस ग्रह का कोई उपग्रह नहीं है।
  • बुध ग्रह पर भरी मात्रा में लोहा पाया जाता है क्योंकि वहा की सतह चटानी है।
  • इस ग्रह के पथरीले सतह पर भारी मात्रा में सल्फर और क्लोंरिन जैसे तत्व पाया जाता है जिसके कारण इस ग्रह का रंग गहरे भूरे रंग का दिखाई पड़ता है।

इसे भी पढ़े रासायनिक तत्वों की सूची (Chemical Elements List)

Venus (शुक्र)

यह ग्रह पृथ्वी का सबसे समीप का ग्रह है और यह सबसे चमकीला व सबसे गर्म ग्रह है। शुक्र ग्रह को पृथ्वी का भगिनि ग्रह भी कहा जाता हैं यह घनत्व व आकार मे पृथ्वी के समान ही है और इसका कोई उपग्रह नही होता।

  • शुक्र ग्रह सौरमंडल में सूर्य से दूसरे सबसे निकटतम स्थान पर है और यह सभी ग्रहों में पृथ्वी से नज़दीक वाला ग्रह है।
  • इस ग्रह को पृथ्वी ग्रह की बहन (Sister of Planet Earth) भी कहा जाता है क्योंकि इन दोनों ग्रहों में बहुत से समानताएं है जैसे फीचर्स, भार, आकर, आदि। 
  • यह ग्रह शाम का तारा और सुबह का तारा के नाम से बहुत प्रसिद्द है क्योंकि यह बहुत ही ज़्यादा चमकीला है। चंद्र के बाद रात में सर्वाधिक चमकने वाला दूसरा सबसे ज्यादा चमकदार पिंड है। 
  • शुक्र ग्रह सौरमंडल में सर्वाधिक गर्म ग्रह माना जाता है (hottest planet)। लोग Mercury बुध ग्रह को सबसे गर्म मान लेते है क्योंकि वह सूर्य के समीप है। 
  • इस ग्रह पर रात का तथा दिन का तापमान लगभग एक समान होता है जो की 462°C है।
  • शुक्र ग्रह पर वायु मंडल है जिसमे 90-95% कार्बन डाइऑक्साइड गैस पाया गया है। इस ग्रह के चारो तरफ sulphuric acid के जमे हुए बादल हैं। 
  • इस ग्रह का भी कोई उपग्रह (satellite) नहीं है। 
  • इस ग्रह को सूर्य की एक पूरी परिक्रमा करने में लगभग 225 दिन लगते है। 
  • यह अन्य ग्रहों के घूमने की दिशा से विपरीत दिशा में घूमता है- पूर्व से पश्चिम दिशा में। 
  • सूर्य से शुक्र ग्रह की दुरी अनुमानित 108.2 मिलियन कि.मी है।

Earth (पृथ्वी)

पृथ्वी के बारे में हम सभी अच्छे से जानते ही है। इसके कुछ महत्वपूर्ण जानकारी हमने बिंदुवार निचे दिया है। आकार मे यह पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है व सौरमंडल का ये एक मात्र ग्रह है जिस पर जीवन सम्भव है। पृथ्वी का सूर्य की एक परिक्रमा करने को सौर वर्ष कहा जाता है। पृथ्वी को नीला ग्रह भी कहा जाता है।

केवल पृथ्वी ही एकमात्र ऐसा ग्रह है जिस पर जीवन संभव है। हालाँकि चाँद पर भी जीवन की संभावनाए है, लेकिन अभी भी इस पर शोधकर्ता खोज कर रहे हैं।
  • सौरमंडल में पृथ्वी एकमात्र ऐसा ग्रह है जहाँ पर जीवन है। पृथ्वीवासी इस ग्रह को धरती भी कहते हैं। 
  • सूर्य से दुरी के माध्यम से ग्रहों में पृथ्वी तीसरे स्थान पर आता है। जिसे हम सौरमंडल का नीला ग्रह भी कहते है क्योंकि इस ग्रह की सतह ज्यादातर पानी से भरा है और अन्तरिक्ष से देखने पर नीला दिखाई देता है।
  • प्राकृतिक रूप से इस ग्रह का चंद्रमा (Moon) नाम का एक उपग्रह है।
  • पृथ्वी ग्रह की बनावट जोईड (Geoid) है। अन्य ग्रहों की तरह पृथ्वी भी सूर्य की परिक्रमा अपने खुद के ध्रुवे में घूमकर करता है।
  • इसे अपना खुद का एक चक्कर (rotation) लगाने में 24 घंटे का समाय लगता है। जबकि इसे सूर्य की एक परिक्रमा (revolution) करने में 365 दिन या एक वर्ष का समय लगता है।
  • पृथ्वी की अक्ष ध्रुवीय व्यास 12713.6 कि.मी है तथा भूमध्यरेखीय व्यास (equatorial diameter) 12756 कि.मी है।
  • सूर्य से पृथ्वी की औसतम दूरी 148.76 मिलियन कि.मी है और चंद्रमा इस ग्रह से 3,84,400 कि.मी दूर है।
  • सूर्य की किरणों को पृथ्वी पर पहुंचने में 8 मिनट 18 सेकंड का समय लगता है।
  • पृथ्वी के सतह का 71% भाग जलस्थलिय (hydrosphere) है और 29% भाग भूस्थलीय (lithosphere) है जहाँ मनुष्य, पशु, पक्षी, एवं अन्य भूजीव रहते है तथा जलप्राणी जल में रहते है।
  • पृथ्वी के भ्रमण के कारण दिन और रात होते हैं तथा सूर्य का भ्रमण करने के कारण ऋतु परिवर्तन होता है।
  • पृथ्वी जिस ध्रुवे (Orbit) में सूर्य की परिक्रमा करती है वह आकर में दीर्घ (elliptical) है जिसके कारण सूर्य और पृथ्वी के बीच की दुरी में परिवर्तन होते रहता है। जिसमे न्यूनतम दुरी को उपसौर (Perihelion) तथा अधिकतम दुरी को सूर्योच्च (Aphelion) कहते है।
  • 21 जून को दिन की अवधि अधिक होती है जिसे Summer solstice तथा 22 दिसंबर को दिन की अवधि सबसे काम होती है जिसे Winter solstice कहते है।
  • 21 मार्च और 23 सितम्बर को सूर्य की किरणें सामान रूप से पृथ्वी पर पड़ती है जिसके कारण इन दो दिनों के दिन-रात का समय सामान होता है जो की 12-12 घंटे की होती है।

इसे भी पढ़े Earth General Knowledge – पृथ्वी पर सामान्य ज्ञान 🌍

Mars (मंगल)

इस गृह के बारे में हम सभी में से अधिकतर को पता है क्योंकि हम इसका नाम अक्सर कई बार सुनते आ रहे हैं। इसकी कुछ मुख्य बाते जो आप सभी को पता होनी चाहिए इसके बारे में हम आपको बता रहे है।

मंगल ग्रह को “लाल ग्रह” के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि आयरन ऑक्साइड के कारण इसका रंग लाल हैं। मंगल ग्रह 687 दिनों में एक बार सुर्य की परिक्रमा करता है। फोबोस और डिमोस इसके दो उपग्रह हैं।

  • मंगल ग्रह सौरमंडल में ग्रहों की सूर्य से दुरी के अनुसार चौथे स्थान पर आता है।
  • इस ग्रह के खुद के नैसर्गिक दो उपग्रह है जिनका नाम फ़ोबोस (Phobos) और डीमोस (Deimos) है। डीमोस (Deimos) उपग्रह सौरमंडल का सबसे छोटा उपग्रह है।
  • मंगल ग्रह में निक्स ओलम्पिया (Nix Olympia) नाम का एक ग्रह है जिसकी ऊंचाई पृथ्वी के माउंट एवेरेस्ट (Mount Everest) से भी तीन गुना ज्यादा है।
  • इस ग्रह पर एक विशालकाय ज्वालामुखी है जिसका नाम ओलम्पस मोंस (Olympus Mons) है।
  • मंगल ग्रह को लाल ग्रह (Red Planet) भी कहते हैं क्योंकि इसका धरातल जंग लगे लोहे के सामान दिखता है। इस ग्रह का वायुमंडल अत्यत वायरल है।
  • इस ग्रह का सतह सूखा और धूल भरा है, जिसके कारण इस ग्रह पर धुल भरा तूफ़ान चलता है और कई बार तो यह इतना विशाल होता है जो महीनो तक चलता है।
  • सूर्य से इस ग्रह की औसतम दुरी दूरी 227.91 मिलियन कि.मी है।
  • पृथ्वी के धुरी के सामान मंगल ग्रह की धुरी झुकी होने कारण यहाँ पर ऋतु परिवर्तन होते है।
  • मंगल ग्रह को रात के समय में मनुष्य अपनी साधारण आँखों से भी देख सकते हैं।

Jupiter (बृहस्पति)

  • बृहस्पति (Jupiter) ग्रह सौरमंडल के ग्रहों में सबसे बड़ा ग्रह है। इस ग्रह को हिंदी में ‘बृहस्पति’ कहते है।
  • सूर्य से दुरी के मामले में यह ग्रह सौरमंडल में पांचवें स्थान पर आता है। इसकी सूर्य से दुरी लगभग 778.57 मिलियन कि.मी है।
  • इस ग्रह का घनत्व (Density) पृथ्वी के घनत्व के मुकाबले एक चौथाई है।
  • इसे सूर्य की एक परिक्रमा करने में पृथ्वी के समय के अनुसार अनुमानित 11.9 वर्ष लगाता है।
  • इस ग्रह का द्रव्यमान (Mass) सौरमंडल में सबसे अधिक है जो सभी ग्रहों का 71% है तथा आयतन (Volume) सभी का डेढ़ गुना है।
  • तारों के भाँती यह ग्रह भी सूर्य की किरणों से ऊर्जा प्राप्त कर दोगुनी-तिगुनी ऊर्जा प्रकाशित करता है। इस ग्रह की अपनी खुद की Radio energy है। इसलिए इस ग्रह में तारों के गुण भी है।
  • इस ग्रह के वायुमंडल में Hydrogen और Helium गैस मौजूद हैं। इस ग्रह का वायुमंडलीय दाब (Atmospheric pressure) सूर्य की तुलना में 1 करोड़ गुना अधिक है।
  • इस ग्रह के अपने 79 नामांकित उपग्रह हैं जिसमे गेनीमेड (Ganymede) सौरमंडल में सबसे बड़ा उपग्रह है।

इसे भी पढ़ेपेड़ पौधों के वैज्ञानिक नाम 🌳🌺 (Botanical Names in Hindi)

Saturn (शनि)

  • Saturn ग्रह को हिंदी में शनि ग्रह कहते है जो सौरमंडल में सूर्य की दुरी के अनुसार छठवे स्थान पर आता है और आकार में सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • सूर्य से शनि ग्रह की दुरी 1.126 बिलियन कि.मी है।
  • शनि ग्रह का व्यास 1,16,480 कि.मी है।
  • इस ग्रह को सूर्य की एक परिक्रमा लगाने में अनुमानित 29.5 वर्ष का समय लगता है।
  • सौरमंडल में इस ग्रह को गैसों का गोला अथवा गैलेक्सी (Galaxy) भी कहते है क्योंकि इस ग्रह के मध्य में एक चक्र सामान 7 विक्सित वलय हैं जो गुरुत्वाकर्षण के कारण इस ग्रह की परिक्रमा करते हैं।
  • इस ग्रह की सतह पृथ्वी या अन्य ग्रहों सामान ठोस नहीं है बल्कि गैसों की है जिसमे यह 94% Hydrogen, 6% Helium और कुछ अंस Methane और Ammonia भी है।
  • शनि ग्रह सौरमंडल में आँखों से दिखने वाला आंखरी ग्रह है।
  • शनि ग्रह के लगभग 82 उपग्रह हैं जिनमे से 62 उपग्रहों का नामांकन हुआ है और अन्य की खोज-बिन अभी भी जारी है।
  • टाइटन (Titan) उपग्रह शनि ग्रह का सबसे बड़ा और सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा उपग्रह है। इस उपग्रह के वायुमंडल में नाइट्रोजन (Nitrogen) मौजूद है।

Uranus (अरुण)

  • सौरमंडल में अरुण ग्रह (Uranus) सूर्य से दुरी में सातवें स्थान पे आता है जो सूर्य से 2.871 बिलियन कि.मी दुरी पर है।
  • शनि ग्रह के वलयों के सामान इस ग्रह का भी वलय है जिसकी संख्या 5 है। जिनके नाम है- अल्फ़ा (Alpha), बीटा (Beta), गामा (Gaama), डेल्टा (Delta), और एप्सिलोन (Epsilon)।
  • सूर्य से इस ग्रह की दुरी 2.9513 बिलियन कि.मी है और यह ग्रह सूर्य की एक परिक्रमा पूरी करने में 84 वर्षों का समय लेता है और इस ग्रह के 15 उपग्रह है।
  • अरुण ग्रह का व्यास (diameter) 50,724 कि.मी है।
  • इस ग्रह के वायुमंडल में Hydrogen, Helium, Methane, और Ammonia जैसे गैस होते है।
  • इस ग्रह के सभी उपग्रह पृथ्वी के विपरीत दिशा में परिभ्रमण करते हैं।
  • इस ग्रह का ऊपरी वातावरन (Upper Atmosphere) काफी ठंडा होता है।
  • यह ग्रह दिखने में नीला दिखाई पड़ता है क्योंकि इस ग्रह पर Methane गैस ज्यादा मात्रा में मौजूद है।
  • अरुण ग्रह का द्रव्यमान पृथ्वी के द्रव्यमान का 14.5 % है।

Neptune (वरुण)

  • वरुण Neptune, सौरमंडल का आठवा ग्रह है। यह अपने नजदीकी ग्रह अरुण से थोड़ा सा ज्यादा बड़ा है।
  • वरुण ग्रह आकर में सौरमण्डल का चौथा सबसे बड़ा ग्रह है। और इसका द्रव्यमान पृथ्वी ग्रह से 17 गुना ज्यादा है।
  • वरुण पृथ्वी की अपेक्षा सूर्य से लगभग 30 गुना ज्यादा दूर है। वरुण को सूर्य का पूरा चक्कर लगाने में 164.79 साल का समय लगता है।
  • यह भी एक गैसीय ग्रह है, गैसीय ग्रहो को गैस दानव के नाम से जाना जाता है। क्योकिं इनकी सतह मिटटी पत्थर की ना होकर गैसों की होती है। और इनका आकर बहुत विशाल होता है।
  • अरुण और वरुण ग्रह बहुत हद तक एक जैसी ही है। अरुण और वरुण ग्रह की सतह पर बृहस्पति और शनि की अपेक्षा ज्यादा बर्फ जमी हुई है। जिसमे अमोनिया और मीथेन गैस मुख्य है।
  • वरुण सौरमंडल का पहला ऐसा ग्रह था जिसकी भविष्यवाणी इसे दिखे बिना ही गणित के आधार पर की गयी थी है। ऐसा इसलिए था, क्योकिं जब अरुण ग्रह की परिक्रमा में कुछ अजीब सी हलचल पायी गयी, तब वैज्ञानिको को पता लगा, की उसका नजदीकी ग्रह उस पर अपना गुर्त्वाकर्षाण प्रभाव डाल रहा है।
  • वैज्ञानिको ने पूरी खोजबीन करने के बाद वरुण को 23 सितम्बर 1846 को पहली बार दूरबीन से देखा, और इसका नाम “Neptune” रखा। प्राचीन काल में भारत में वरुण देवता के स्थान पर इसको हिंदी में वरुण कहा गया। प्राचीन रोमन धर्म में “नॅप्टयून” समुन्द्र के देवता थे, जिसकी वजह से इसे English में “नॅप्टयून” का नाम दिया गया है।
  • वरुण ग्रह पर मौसम का बदलाफ बिल्कुल साफ़ देखा जा सकता है। यहाँ पर तूफानी हवाएं अन्य सभी ग्रहों की अपेक्षा ज्यादा तीव्र होती है। जिनकी गति 2100 प्रति घटा तक देखी गयी है।
  • वरुण के 13 प्राकृतिक ज्ञात उपग्रह है, जिनमे ट्राइटन, डस्पीना, और थलेसा मुख्य है।

What is The Planet – ग्रह क्या है?

अक्सर हमने देखा है परीक्षाओं में ग्रह से सम्बंधित प्रश्न अधिक पूछे जाते है। जैसे ग्रह और पिंड में अंतर क्या है?, – ग्रह क्या है, What is The Planet? इत्यादि। किसी तारे के चारो ओर चक्कर लगाने वाले खगोलीय पिंडो को ग्रह कहते है। जिस तरह से सूर्य एक तारा है, और इसके चारो और चक्कर लगा रहे खगोलीय पिंड ग्रह है। ग्रह अलग-अलग आकर के होते है। यह गुर्त्वाकर्षण बल के कारण पर्याप्त निश्चित कक्षा की दूरी पर चक्कर लगाते है। इनके आसपास किसी दूसरे खगोलीय पिंडो का झुण्ड नहीं होता है।

सूर्य एक तारा है और यह सौरमंडल का सबसे बड़ा तारा है।

Pluto Planet in Hindi – प्लूटो ग्रह की जानकारी

प्लूटो (Pluto) ग्रह का नाम यम है यह सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा बौना ग्रह है। प्लूटो पहले नवग्रह में शामिल था। प्लूटो ग्रह की खोज 18 फरवरी सन 1930 में Clyde Tombaugh ने की थी। परन्तु 24 अगस्त सन 2006 को इसे ग्रहों के समूह से निकाल दिया गया। और तब से वर्तमान में सौरमंडल में केवल 8 ग्रह हैं।

2500 से अधिक वैज्ञानिकों के मत से प्लूटो को ग्रहों की समूह से बाहर निकाला गया था। इनका आकर पृथ्वी और चन्द्रमा से एक तिहाई छोटा है। यह सौरमंडल में बहुत नियम के अनुसार परिक्रमा नही करता है, कभी सूर्य के बहुत पास चला जाता है तो कभी सूर्य से दूर वरुण ग्रह के पास चला जाता है। प्लूटो की सतह जमी हुई नाइट्रोजन की बर्फ, पानी की बर्फ और पत्थर की बनी हुई है। इस ग्रह को सूर्य की एक पूरी परिक्रमा पूरा करने में 248 साल का समय लगता है।

9 ग्रह के नाम कौन कौन से हैं?

9 ग्रहों के नाम हैं: मंगल, बुध, शुक्र, शनि, पृथ्‍वी, बृहस्‍पति, अरूण और वरूण और प्लूटो

ग्रहों का राजा कौन है?

वृहस्पति (Jupiter) को सभी ग्रहों का राजा कहा जाता है क्योंकि यह सौरमंडल के ग्रहों में सबसे बड़ा ग्रह है।

संसार का सबसे बड़ा ग्रह कौन सा है?

संसार का सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति (Jupiter) है।

हरा ग्रह कौन सा है?

यूरनेस को हरा ग्रह कहा जाता है। इसके वायुमंडल के अंदर 83 प्रतिशत गैस हाईड्रोजन और 15 प्रतिशत हिलियम गैसे पाई जाती हैं। मिथेन गैस लाल रोसनी को सोख लेती है इसलिए यह ग्रह हरा दिखाई देता है।

सबसे छोटा ग्रह कौन सा है?

बुध सौरमंडल का सबसे छोटा ग्रह है। यह ग्रह चांद से थोड़ा ही बड़ा है। चांद का व्यास 3476 किलोमीटर है, जबकि बुध का 4850 किलोमीटर।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने 8 ग्रहों के नाम हिंदी में (Name of Planets in Hindi | Hindi Planets Name | Planets name in Hindi | All Planets Name in Hindi) के बारे में जाना। हमें उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। इस लेख के बारे में अपने विचार या सुझाव हमें बताये। इसी तरह के और आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए हमारे वेबसाइट और सोशल मीडिया यूट्यूब, टेलीग्राम, फेसबुक, इन्स्टाग्राम और ट्विटर पर फॉलो करे।

लाइक्स+4

Study Discuss

प्रतियोगी परीक्षा एवं बोर्ड कक्षाओं की मुफ्त ऑनलाइन स्टडी मटेरियल। हिंदी, अंग्रेजी व्याकरण और कंप्यूटर विषय की सम्पूर्ण जानकारी निःशुल्क में एक्सेस करे।

Study Discuss
Logo
Enable registration in settings - general