Barah Khadi in Hindi | हिंदी से अंग्रेजी बारहखड़ी कैसे सीखें?

हिंदी वर्णमाला बारहखड़ी (Barah Khadi in Hindi) हमने बचपन में अपनी स्लेट पर बार-बार लिखकर मिटाया होगा। 12 Khadi को हिंदी सीखने का पहला चरण माना गया हैं। यदि विद्यार्थियों को अक्षरों और मात्राओं का ज्ञान कराकर सिखाया जाए तो वह जल्द ही हिंदी व अंग्रेजी बारहखड़ी (12 Khadi in English) सीखकर किताब पढ़ना सीख जाते हैं।

हिंदी भाषा जल्द ही सिखने के लिए हमें सबसे पहले विद्यार्थियों को स्वर तथा व्यजनों के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देनी होगी। विद्यार्थियों को “क से श्र” तक सभी वर्ण बार बार लिखवाकर याद कराये और प्रत्येक वर्ण के उच्चारण को भी साथ-साथ सीखाएं। वर्ण सिखने के बाद मात्राओं का अभ्यास करवाएं तथा एक व्यंजन के साथ छोटी बड़ी मात्रा जुड़ने से उसके उच्चारण की ध्वनि बच्चों को सुनाएं जिससे बच्चे जल्द ही किताब पढ़ना सीख सकते हैं।

हम सभी जानते हैं कि हिन्दी वर्णमाला में कुल 13 स्वर हैं लेकिन इसमे केवल 12 मात्राएँ होती है। इन्हीं मात्राओं को व्यंजन के साथ जोड़ने से बारह खड़ी (Barah Khadi in Hindi) बनती है।

‘अ’ का कोई मात्रा नहीं होता है, इसलिए हिंदी भाषा में केवल 12 ही मात्राएँ होती है।

इसे भी पढ़े Botanical Names in Hindi | पेड़ पौधों के वैज्ञानिक नाम 🌳🌺

स्वरमात्राउदाहरण
क + ा = का
िक + ि = कि
क + ी = की
क + ु = कु
क + ू = कू
क + ृ = कृ
क + े = के
क + ै = कै
क + ो = को
क + ौ = कौ

Barah Khadi in Hindi (12 Khadi) | हिंदी वर्णमाला बारहखड़ी

बारहखड़ी (12 Khadi) हिन्दी भाषा के व्यंजन तथा स्वर के संयोग से बनने वाले अक्षरों के क्रम को कहते हैं। हिन्दी भाषा के लिये बारहखड़ी (Barah Khadi in Hindi) सारणी नीचे दी गयी है।

इसे भी पढ़े गूगल से जाने अपनी उम्र, मिलेगा मजेदार जवाब

बारह खड़ी हिन्दी व्याकरण में व्यंजन का स्वर की मात्राओं से जुड़ा एक नया रूप है। जैसे- व्यंजन ‘क’ पर ‘आ’ (ा) की मात्रा लगाने से ‘का’ बन गया है। ऐसे ही सभी मात्राओं को किसी वर्ण पर व्यवस्थित करने से उनका समूह बारह खड़ी कहलाता है।

‘ऋ’ भी एक स्वर है। इसका प्रयोग हिंदी बोलियों में बहुत ही कम है, लेकिन हिंदी से आए संस्कृत शब्दों में अधिक है। जैसे: पृथ्वी, मृत्यु, मृदा इत्यादि।

Barah Khadi in Hindi (क से श्र तक)

अंअः
ि
काकिकीकुकूकेकैकोकौकंकः
खाखिखीखुखूखेखैखोखौखंखः
गागिगीगुगूगेगैगोगौगंगः
घाघिघीघुघूघेघैघोघौघंघः
चाचिचीचुचूचेचैचोचौचंचः
छाछिछीछुछूछेछैछोछौछंछः
जाजिजीजुजूजेजैजोजौजंजः
झाझिझीझुझूझेझैझोझौझंझः
टाटिटीटुटूटेटैटोटौटंटः
ठाठिठीठुठूठेठैठोठौठंठः
डाडिडीडुडूडेडैडोडौडंडः
ढाढिढीढुढूढेढैढोढौढंढः
णाणिणीणुणूणेणैणोणौणंणः
तातितीतुतूतेतैतोतौतंतः
थाथिथीथुथूथेथैथोथौथंथः
दादिदीदुदूदेदैदोदौदंदः
धाधिधीधुधूधेधैधोधौधंधः
नानिनीनुनूनेनैनोनौनंनः
पापिपीपुपूपेपैपोपौपंपः
फाफिफीफुफूफेफैफोफौफंफः
बाबिबीबुबूबेबैबोबौबंबः
भाभिभीभुभूभेभैभोभौभंभः
मामिमीमुमूमेमैमोमौमंमः
यायियीयुयूयेयैयोयौयंयः
रारिरीरुरूरेरैरोरौरंरः
लालिलीलुलूलेलैलोलौलंलः
ळाळिळीळुळूळेळैळोळौळंळः
वाविवीवुवूवेवैवोवौवंवः
शाशिशीशुशूशेशैशोशौशंशः
सासिसीसुसूसेसैसोसौसंसः
षाषिषीषुषूषेषैषोषौषंषः
हाहिहीहुहूहेहैहोहौहंहः
क्षक्षाक्षिक्षीक्षुक्षूक्षेक्षैक्षोक्षौक्षंक्षः
त्रत्रात्रित्रीत्रुत्रूत्रेत्रैत्रोत्रौत्रंत्रः
ज्ञज्ञाज्ञिज्ञीज्ञुज्ञूज्ञेज्ञैज्ञोज्ञौज्ञंज्ञः
श्रश्राश्रिश्रीश्रुश्रूश्रेश्रैश्रोश्रौश्रंश्रः

Barakhadi Kaise Yaad Karaye | 12 Khadi याद कराने का तरीका

पुराने समय में अध्यापक 12 खड़ी (Barah Khadi in Hindi) को याद करवाने के लिए रटवाना ही सबसे अच्छा तरीका मानते थे। और लम्बे समय के अभ्यास के बाद विद्यार्थी बारहखड़ी सीख तो लेते थे परन्तु उनकी रूचि पढ़ाई में खत्म होने लगती थी और बच्चों को रटे हुए शब्दों के अर्थ भी मालूम नहीं होता था।

इसलिए बच्चों को खेल के साथ बारहखड़ी सिखाने का प्रयास किया जाना चाहिए। जिससे उनकी पढ़ाई में मन भी लगा रहे और सीखते भी रहे। सबसे पहले सभी स्वरों तथा व्यजनों के अर्थ व उदाहरण को अच्छे से समझाए फिर कुछ दिनों तक स्लेट पर इन्हें लिखवाकर अभ्यास कराये। बाद में बारहखड़ी को मात्राओं के साथ सिखाएं उन्हें हर शब्द के पीछे मात्रा लगने से अर्थ में होने वाले बदलाव तथा उसके उच्चारण का सही तरीका भी सिखाए। बच्चो को रोज नये-नये शब्द बनाने के लिए भी दें जिससे वे जल्दी से मात्राओ के कारण शब्द के अर्थ में बदलाव होने वाले बदलाव को समझ सकेंगे।

इसे भी पढ़ेहिंदी की टॉप 10 सबसे मजेदार नैतिक कहानियां

जैसे: ‘क’ के साथ जिस तरह ‘इ’ की बड़ी मात्रा लगने से ‘की’ बनता हैं ठीक उसी तरह ख, ग, घ के बड़ी ‘ई’ की मात्रा से ‘ऊ’ की मात्रा ‘ऐ’ की मात्रा लगने से उसका उच्चारण अलग होगा। धीरे-धीरे शब्द निर्माण के बारे में भी परिचय कराते चले ताकि जैसे ही बच्चा बारहखड़ी (12 Khadi) सीख ले वह अभ्यास के तौर पर किताब पढ़ना भी सीख जाएगा।

Barah Khadi in English | हिंदी से अंग्रेजी बारहखड़ी

ऊपर हमने जाना की हिंदी में बारहखड़ी (Barah Khadi in Hindi) कैसे लिखा जाता है। लेकिन क्या आपको पता है अधिकांश बच्चे हिंदी से अंग्रेजी में शब्दों का अनुवाद करते समय मात्राओं का सही ज्ञान ना होने के कारण अंग्रेजी के शब्दों को गलत लिखते हैं। तो चलिए निचे दिए गए चार्ट की मदद से जानते हैं की अंग्रेजी में बारहखड़ी (Barah Khadi in English) को कैसे लिखा जाता है।

Barah Khadi in English (क से ज्ञा तक) | 12 Khadi in English

अंअः
ि

ka
का
ka
कि
ki
की
kee
कु
ku
कू
koo
के
ke
कै
kai
को
ko
कौ
kau
कं
kan
कः
kah

kha
खा
kha
खि
khi
खी
khee
खु
khu
खू
khoo
खे
khe
खै
khai
खो
kho
खौ
khau
खं
khan
खः
khah

ga
गा
ga
गि
gi
गी
gee
गु
gu
गू
goo
गे
ge
गै
gai
गो
go
गौ
gau
गं
gan
गं
gah

gha
घा
gha
घि
ghi
घी
ghee
घु
ghu
घू
ghoo
घे
ghe
घै
ghai
घो
gho
घौ
ghau
घं
ghan
घः
ghah

cha
चा
cha
चि
chi
ची
chee
चु
chu
चू
choo
चे
che
चै
chai
चो
cho
चौ
chau
चं
chan
चः
chah

chha
छा
chha
छि
chhi
छी
chhee
छु
chhu
छू
chhoo
छे
chhe
छै
chhai
छो
chho
छौ
chhau
छं
chhan
छः
chhah

ja
जा
ja
जि
ji
जी
jee
जु
ju
जू
joo
जे
je
जै
jai
जो
jo
जौ
jau
जं
jan
जः
jah

jha
झा
jha
झि
jhi
झी
jhee
झु
jhu
झू
jhoo
झे
jhe
झै
jhai
झो
jho
झौ
jhau
झं
jhan
झः
jhah

ta
टा
ta
टि
ti
टी
tee
टु
tu
टू
too
टे
te
टै
tai
टो
to
टौ
tau
टं
tan
टः
tah

tha
ठा
tha
ठी
thi
ठी
thee
ठु
thu
ठू
thoo
ठे
the
ठै
thai
ठो
tho
ठौ
thau
ठं
than
ठः
thah

da
डा
da
डि
di
डी
dee
डु
du
डू
doo
डे
de
डै
dai
डो
do
डौ
dau
डं
dan
डः
dah

dha
ढा
dha
ढि
dhi
ढी
dhee
ढु
dhu
ढू
dhoo
ढे
dhe
ढै
dhai
ढो
dho
ढौ
dhau
ढं
dhan
ढः
dhah

na
णा
na
णि
ni
णी
nee
णु
nu
णू
noo
णे
ne
णै
nai
णो
no
णौ
nau
णं
nan
णः
nah

ta
ता
ta
ति
ti
ती
tee
तु
tu
तू
too
ते
te
तै
tai
तो
to
तौ
tau
तं
tan
तः
tah

tha
था
tha
थि
thi
थी
thee
थु
thu
थू
thoo
थे
the
थै
thai
थो
tho
थौ
thau
थं
than
थः
thah

da
दा
da
दि
di
दी
dee
दु
du
दू
doo
दे
de
दै
dai
दो
do
दौ
dau
दं
dan
दः
dah

dha
धा
dha
धि
dhi
धी
dhee
धु
dhu
धू
dhoo
धे
dhe
धै
dhai
धो
dho
धौ
dhau
धं
dhan
धः
dhah

na
ना
na
नि
ni
नी
nee
नु
nu
नू
noo
ने
ne
ने
nai
नो
no
नौ
nau
नं
nan
नः
nah

pa
पा
pa
पि
pi
पी
pee
पु
pu
पू
poo
पे
pe
पौ
pai
पो
po
पौ
pau
पं
pan
पः
pah

pha
फा
pha
फि
phi
फी
phee
फु
phu
फू
phoo
फे
phe
फै
phai
फ़ो
pho
फौ
phau
फं
phan
फः
phah

ba
बा
ba
बि
bi
बी
bee
बु
bu
बू
boo
बे
be
बै
bai
बो
bo
बौ
bau
बं
ban
बः
bah

bha
भा
bha
भि
bhi
भी
bhee
भु
bhu
भू
bhoo
भे
bhe

bhai
भो
bho
भौ
bhau
भं
bhan
भः
bhah

ma
मा
ma
मि
mi
मी
mee
मु
mu
मू
moo
मे
me
मै
mau
मो
mo
मौ
mau
मं
man
मः
mah

ya
या
ya
यि
yi
यी
yee
यु
yu
यू
yoo
ये
ye
यै
yai
यो
yo
यौ
yau
यं
yan
यः
yah

ra
रा
ra
रि
ri
री
ree
रु
ru
रू
roo
रे
re
रै
rai
रो
ro
रौ
rau
रं
ran
रः
rah

la
ला
la
लि
li
ली
lee
लु
lu
लू
loo
ले
le
लै
lai
लो
lo
लौ
lau
लं
lan
लः
lah

wa
वा
wa
वि
wi
वी
wee
वु
wu
वू
woo
वे
we
वै
wai
वो
wo
वौ
wau
वं
wan
वः
wah

sha
शा
sha
शि
shi
शी
shee
शु
shu
शू
shoo
शे
she
शै
shai
शो
sho
शौ
shau
शं
shan
शः
shah

sha
षा
sha
षि
shi
षी
shee
षु
shu
षू
shoo
षे
she
षै
shai
षो
sho
षौ
shau
षं
shan
षः
shah

sa
सा
sa
सि
si
सी
see
सु
su
सू
soo
से
se
सै
sai
सो
so
सौ
sau
सं
san
सः
sah

ha
हा
ha
हि
hi
ही
hee
हु
hu
हू
hoo
हे
he
है
hai
हो
ho
हौ
hau
हं
han
हः
hah
क्ष
ksha
क्षा
ksha
क्षि
kshi
क्षी
kshee
क्षु
kshu
क्षू
kshoo
क्षे
kshe
क्षै
kshai
क्षो
ksho
क्षौ
kshau
क्षं
kshan
क्षः
kshah
ज्ञ
gya
ज्ञा
gya
ज्ञि
gyi
ज्ञी
gyee
ज्ञु
gyu
ज्ञू
gyoo
ज्ञे
gye
ज्ञै
gyai
ज्ञो
gyo
ज्ञौ
gyau
ज्ञं
gyan
ज्ञः
gyah

बारहखड़ी (12 खड़ी) सीखे बिना हिंदी भाषा कैसे पढ़े?

हम सभी जानते ही हैं की किसी भी भाषा को पढ़ने या सीखने की शुरुआत उसके वर्णमाला को समझने से होती हैं। बेसिक वर्णमाला स्वर और व्यंजन जिन्हें ‘अ’ अनार तथा ‘क’ से कबूतर उच्चारित करना सीखाया जाता हैं। इन सभी वर्णों को सीखने के बाद अगला पड़ाव बारह खड़ी सीखने का होता हैं।

छोटे बच्चों के लिए प्रत्येक वर्ण पर मात्राएँ लगाकर उनका अलग अलग उच्चारण कर याद रखना काफी कठिन हो जाता हैं। आजकल छोटी कक्षाओं के बच्चों को बारहखड़ी न रटवाकर मात्राओं का ज्ञान करवाकर हिन्दी पढ़ना सीखाया जाता हैं।

बच्चों को स्वर और व्यंजन सिखाने के बाद बारहखड़ी (12 Khadi) के स्थान पर एक मात्रा वाले दो शब्द (कब, तब, अब, घर, फल, चल, हट) के बाद एक मात्रा के तीन शब्द (अमर, बहस, नगर, चलन, बजट, सड़क, धवन, नजर) के बाद चार शब्दों वाले एक मात्रा के शब्द जैसे (बचपन, खटपट, चटपट, नटखट, गपशप, मखमल, झटपट, करतब, अदरक, समतल, खटमल) आदि।

इसे भी पढ़ेराष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर निबंध 100, 200, 300 600 और 900 शब्दों में

इसी तरह आ की मात्रा वाले दो, तीन चार शब्दों के बाद ‘इ, ई’ और फिर शेष स्वरों और व्यंजनों से बनने वाले इस तरह के शब्दों को पढ़वाकर बहुत कम अभ्यास से ही आराम से बच्चों को फर्राटेदार हिंदी पढ़ना और बोलना कम समय में सिखाया जा सकता हैं।

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने Barah khadi in Hindi | Barah Khadi in English | 12 Khadi के बारे में जाना। हमें उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। इस लेख के बारे में अपने विचार या सुझाव हमें निचे कमेंट करें। इसी तरह के और आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए हमारे वेबसाइट, टेलीग्राम और फेसबुक को सब्सक्राइब कीजिये।

12 खड़ी क्या होता है?

बारह खड़ी (12 खड़ी) हिन्दी व्याकरण में व्यंजन का स्वर की मात्राओं से जुड़ा एक नया रूप है। जैसे- व्यंजन ‘क’ पर ‘आ’ (ा) की मात्रा लगाने से ‘का’ बन गया है। ऐसे ही सभी मात्राओं को किसी वर्ण पर व्यवस्थित करने से उनका समूह बारह खड़ी कहलाता है।

बारह खड़ी में कितने अक्षर होते हैं?

हिंदी भाषा में 41 व्यंजन होते है और एक व्यंजन 11 स्वरों के साथ मिलकर 12 अक्षरों की एक शृंखला बनाता है। हिंदी भाषा की पूरी बारहखड़ी में कुल अक्षरों की संख्या 492 होती होती है।

क से ज्ञ तक बारहखड़ी बताइए

क से ज्ञ तक की बारहखड़ी हमने हिंदी और अंग्रेजी भाषा में उपर बताया हुआ है।

Study Discuss

प्रतियोगी परीक्षा एवं बोर्ड कक्षाओं की मुफ्त ऑनलाइन स्टडी मटेरियल। हिंदी, अंग्रेजी व्याकरण और कंप्यूटर विषय की सम्पूर्ण जानकारी निःशुल्क में एक्सेस करे।

Study Discuss
Logo
Enable registration in settings - general