Noun in Hindi: संज्ञा की परिभाषा, नियम और भेद

हमारे आसपास की अधिकतर वस्तुए संज्ञा है। फिर चाहे वो किसी वस्तु का नाम हो, व्यक्ति का नाम हो या मानवीय भाव हो। निचे हमने संज्ञा की परिभाषा (Noun in Hindi) की सटीक परिभाषा और उदाहरण देकर समझाने का प्रयास किया है। संज्ञा (Noun in Hindi) से संबंधित संपूर्ण जानकारी तथा कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण नीचे दिए गए हैं, जो संज्ञा से संबंधित आपका ज्ञान बढ़ाने में आपकी सहायता करेंगे।

संज्ञा की परिभाषा (Noun in Hindi)

संज्ञा की परिभाषा (Noun in Hindi) – किसी व्यक्ति, वस्तु, गुण, स्थान, प्राणी, जाति, क्रिया और भाव आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं। संज्ञा का शाब्दिक अर्थ होता है नाम।

या

अन्य शब्दों में संज्ञा की परिभाषा – इस समस्त ब्रह्माण्ड में हमारे चारों ओर जो कुछ भी हमें दिखाई देता है अथवा जिसका अनुभव किया जाता है, उन सभी पदार्थों के नाम को ही संज्ञा (Noun in Hindi) कहते हैं।

संज्ञा के उदाहरण

रामू खेल में प्रथम आया था। इसलिए वह दौड़ता हुआ मैदान से घर पहुंचा, इस बात से वह बहुत खुश था। उसने यह बात अपने भाई को बताई। यह खबर सुन वह इतने प्रशन्न हुए कि उन्होंने उसे गले लगा लिया।

यहाँ पर खुश और प्रशन्न (भाव), रामू, भाई (व्यक्ति), मैदान, घर (स्थान), सुन, गले (क्रिया) आदि संज्ञा आई हैं।

  • राम एक बुद्धिमान बालक है। 
  • यह किताब उसकी है। 
  • पीतल के बर्तन में खाना बनाओ। 
  • मैं उस से प्रेम करता हूं। 
  • टेबल पर अंगूर का गुच्छा पड़ा है। 
  • रामू और श्यामू अच्छे मित्र हैं। 
  • उसने सोने की अंगूठी पहन रखी है। 
  • रायपुर छत्तीसगढ़ की राजधानी है। 
  • मोर भारत का राष्ट्रीय पक्षी है। 
  • राधा एक सुंदर लड़की है। 

संज्ञा की पहचान के नियम

संज्ञा की पहचान निम्न लक्षणों के आधार पर कर सकते हैं:

  • प्राणी वाचक शब्द: रामू, गाय, लड़का, शेर, राहुल, मायावती, मोमता, मोर, कबूतर आदि।
  • अप्राणी वाचक शब्द: अंगूर, टोंटी, मकान, साइकिल, नदी, सेब आदि।
  • गणनीय अर्थात जिसकी गणना की जा सके: जानवर, साइकिल, केला, हाथी आदि।
  • अगणनीय अर्थात जिनकी गणना नहीं की जा सके: गुस्सा, प्रेम, दर्द, दूध, पानी आदि।

इसे भी पढ़ेतत्सम और तद्भव की परिभाषा, अंतर और पहचान के नियम

संज्ञा के भेद (Sangya Ke Bhed)

संज्ञा के निम्नलिखित पाँच प्रकार होते हैं:

1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
2. जातिवाचक संज्ञा
3. द्रव्यवाचक संज्ञा
4. समूहवाचक संज्ञा
5. भाववाचक संज्ञा

व्यक्तिवाचक संज्ञा

जिस शब्द से किसी एक विशेष वस्तु, व्यक्ति या स्थान आदि का बोध हो उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं। अर्थात जिस संज्ञा शब्द से किसी विशेष वस्तु, स्थान या व्यक्ति के नाम का पता चलता है, वहाँ पर व्यक्तिवाचक संज्ञा होती है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण

  • राम स्कूल जाता है।
  • ताजमहल सात अजूबों में से एक है।
  • शिमला एक पर्यटन स्थल है।
  • जवाहर लाल नेहरू भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे।

ऊपर दिए गए उदाहरण में राम, ताजमहल, शिमला और जवाहर लाल नेहरू व्यक्तिवाचक संज्ञा का बोध कराता हैं।

  • व्यक्ति का नाम: राधा, अनिल, सुरेश, राम आदि
  • स्थान का नाम: रायपुर, छत्तीसगढ़, मुंबई, आगरा आदि
  • वस्तु का नाम: रामायण, गीता, कार, घर आदि
  • दिशा का नाम: उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम
  • नदि के नाम: गंगा, जमुना, सरस्वती, नर्मदा और कावेरी

जातिवाचक संज्ञा

जिस शब्द से एक ही जाति के अनेक वस्तुओं, प्राणियों का बोध हो उसे जातिवाचक संज्ञा कहते हैं। अर्थात जिस शब्द से किसी जाति का सम्पूर्ण बोध हो यह उसकी पूरी श्रेणी और पूर्ण वर्ग का ज्ञान देता हो, उस शब्द को जातिवाचक संज्ञा कहते हैं।

जातिवाचक संज्ञा के उदाहरण

  • सड़क पर गाड़ियां चलती हैं।
  • स्कूल में बच्चे पढ़ते हैं।
  • पेड़ों पर पक्षी बैठे हैं।
  • बिल्ली चूहे खाती है।
  • सभी प्रजातियों में से मनुष्य सबसे बुद्धिमान हैं।
  • हिरन का शेर शिकार करते हैं।

ऊपर दिए गए उदाहरण में गाड़ियाँ, बच्चे, पक्षी, चूहे, मनुष्य और हिरन जातिवाचक संज्ञा का बोध काराता हैं।

  • लड़का – राम, श्याम ये सभी लड़कों का बोध होता है।
  • मनुष्य कहने से संसार की समस्त मनुष्य जाति का बोध होता है।
  • वस्तु से मकान, कुर्सी, कलम, पुस्तक का बोध होता है।
  • नदी से गंगा, यमुना और सरस्वती आदि सभी नदियों का बोध होता है।

द्रव्यवाचक संज्ञा

जो संज्ञा शब्द किसी धातु या द्रव्य पदार्थ का बोध कराते है, उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते हैं। अर्थात जो शब्द किसी धातु, द्रव्य और पदार्थ को दर्शाते हैं वहाँ पर द्रव्यवाचक संज्ञा होती है।

द्रव्यवाचक संज्ञा के उदाहरण

  • मुझे खीर पसंद है।
  • मेरे पास चांदी के आभूषण हैं।
  • लोहा एक कठोर धातु है।
  • दो लीटर तेल लेकर आओ।
  • दूध पीने से ताकत आता है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में खीर, चांदी, लोहा, तेल और दूध द्रव्यवाचक संज्ञा का बोध काराता हैं।

समूहवाचक संज्ञा

जो संज्ञा शब्द किसी समुदाय या समूह का बोध कराते है उसे समूहवाचक संज्ञा कहते हैं। अर्थात जो शब्द किसी विशिष्ट या एक ही वर्ग, जाति या एक ही वस्तुओं के समूह को दर्शाता है वहाँ पर समूहवाचक संज्ञा होती है। इसे समुदायवाचक संज्ञा भी कहा जाता है।

समूहवाचक संज्ञा के उदाहरण

  • मेरे परिवार में पाँच सदस्य हैं।
  • हाथी हमेशा झुण्ड में रहते हैं।
  • भारतीय सेना दुनिया की सबसे बड़ी सेना है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में परिवार, झुण्ड और सेना समूहवाचक संज्ञा का बोध काराता हैं।

भाववाचक संज्ञा

जिस संज्ञा शब्द से किसी के दोष, गुण, दशा, भाव, स्वाभाव आदि का बोध हो उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं। अर्थात जिस शब्द से किसी प्राणी की दशा, वस्तु, पदार्थ, दोष, भाव आदि का पता चलता हो वहाँ पर भाववाचक संज्ञा होती है।

भाववाचक संज्ञा के उदाहरण

  • तुम्हारी आँखों में क्रोध नज़र आता है।
  • अधिक दोड़ने से मुझे थकान हो जाती है।
  • आपकी आवाज़ में बहुत मिठास है।
  • अधिक परिश्रम करने से सफलता मिलती है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में क्रोध, थकान, मिठास और सफलता भाववाचक संज्ञा का बोध काराता हैं।

  • ईमानदारी से गुण का बोध होता है।
  • उत्साह मन का भाव है।
  • बचपन जीवन की एक अवस्था या दशा को बताता है।

भाववाचक संज्ञा बनाने के नियम

  • जातिवाचक संज्ञा से
  • विशेषण से
  • सर्वनाम से
  • क्रिया से

(अ). जातिवाचक संज्ञा से भाववाचक संज्ञा बनाना

पुरुषपुरुषत्व
पंडितपांडित्य
सेवकसेवा
मित्रमित्रता
पशुपशुता
नारीनारीत्व
भाईभाईचारा

इसे भी पढ़े शब्द की परिभाषा, शब्द के भेद और उदाहरण

(ब). विशेषण से भाववाचक संज्ञा बनाना

चौड़ाचौडाई
मीठामिठास
गंभीरगंभीरता
मधुरमधुरता
मूर्खमूर्खता
लाललाली
पागलपागलपन

(स). सर्वनाम से भाववाचक संज्ञा बनाना

परायापरायापन
सर्वसर्वस्व
निजनिजत्व

(द). क्रिया से भाववाचक संज्ञा बनाना

लिखनालेख
कमानाकमाई
खोदनाखुदाई
खपनाखपत
बचनाबचाव
नाचनानाच

अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

संज्ञा के कितने भेद होते हैं ?

संज्ञा के निम्न पांच भेद है: व्यक्तिवाचक संज्ञा, जातिवाचक संज्ञा, द्रव्यवाचक संज्ञा, समूहवाचक संज्ञा और भाववाचक संज्ञा।

संज्ञा किसे कहते हैं ?

किसी भी व्यक्ति, वस्तु या स्थान के नाम को संज्ञा कहते हैं। जैसे : राम, श्याम, हाथी, कुर्सी

संज्ञा का उदाहरण क्या है ?

संज्ञा के कुछ उदाहरण: राम, छत्तीसगढ़, हाथी, कुत्ता, टीवी इत्यादि है।

Study Discuss

प्रतियोगी परीक्षा एवं बोर्ड कक्षाओं की मुफ्त ऑनलाइन स्टडी मटेरियल। हिंदी, अंग्रेजी व्याकरण और कंप्यूटर विषय की सम्पूर्ण जानकारी निःशुल्क में एक्सेस करे।

Study Discuss
Logo
Enable registration in settings - general